A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z #

Arijit Singh

"Woh Din (Arijit Singh Version)"

यादों के पुराने एल्बम में
छुपा के रखे हैं हमने वो दिन
गुल्लक में पड़ी चवन्नी सी
बचा के रखे हैं हमने वो दिन
ना किसी मंजिल की फिकर थी
ज़िन्दगी जीने की उमर थी
दोस्ती और दोस्तों से उधार के दिन थे
वो दिन भी क्या दिन थे
वो दिन भी क्या दिन थे...

बिगड़े हुए इंसान थे
शैतान की संतान थे
लेकिन ब्रदर जो भी कहो
वो यार ही तो जान थे
कॉलेज की कुड़ी से
करने आँखें चार के दिन थे
आये ज़िन्दगी में पहले पहले
प्यार के दिन थे
वो दिन भी क्या दिन थे...

खरबूजों को खरबूजों की
मिली सी सांगत के अपने वो दिन
ओ, जीवन पे नई जवानी की
चढ़ी सी रंगत के अपने वो दिन
याद है फिल्मों के पुराने
आर डी बर्मन के वो गाने
बैंड के कीबोर्ड के
और गिटार के दिन थे
वो दिन भी क्या दिन थे...

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z #


All lyrics are property and copyright of their owners. All lyrics provided for educational purposes and personal use only.
Copyright © 2017-2019 Lyrics.lol